Category: Poem

Poem

संघर्ष ही जीवन है।

संघर्ष ही जीवन है समझना होगा, गिरो-उठो भले ही,फिर भी संभलना होगा, जिंदगी एक रण है,हार-जीत निश्चित है, फिर भी युध्द तो लड़ना होगा, संघर्ष ही जीवन है समझना होगा। वीर मरने से कहाँ डरता है? कायर तो पल-पल मरता...

Poem

हिम्मत को तू अपनी फिर थाम ले

हौंसले को अपने न हारने दे, हिम्मत को तू अपनी फिर थाम ले, होगा कदमो तेरे ये आसमां, बात मेरी बस तू एक मान ले, हिम्मत को तू अपनी फिर थाम ले।। भर ले जोश अपने इरादो मे तू, चल...

Poem

जिंदगी तेरा मुकाम पक्का है

जिंदगी तेरा मुकाम पक्का है, तेरी हर कहानी का अंजाम पक्का है। कुछ मिले या न मिले तुझे, मिलेगी दो गज जमीन ये विश्वास पक्का है। मिलते रहो हंसते हुए सबसे, हर सुबह का ढल जाना पक्का है। ईर्ष्या छोड़...

Poem

कुछ बड़ा करो

करना है तो कुछ बड़ा करो, चुनौतियों से फिर क्यों डरो। चुनौतियाँ ही तो अवसर है, आगे बड़ो मंजिल पथ पर है। कायर बनकर मत बैठो, एकबार तो जरा उठकर देखो। लड़कर मरना फक्र है, भीरू की तो कब्र है।...